भारत

श्रीनगर कश्मीर:

 यहीं है यह जगह इतनी खूबसूरत है की इसे देख कर किसी के भी मुंह से निकले एक ऐसा शहर है जिसमें कोई कमी नहीं है सुंदर झीले धार्मिक स्थान और चारो तरफ हरी-भरी जमीन इस स्थान को हर तरह से संपन्न बनाते हैंयहाँ आने का सपना सभी का होता है लेकिन यहाँ कुछ सालो से आतंकवाद अधिक होने से यहाँ भारत देश के लोग कम ही रहते है। उम्मीद है कि आने वाले सालों में यहां शांतिपूर्ण माहौल हो या जाने का अपना सपना पूरा कर पाए। 

शिमला हिमांचल प्रदेश:

शिमला हिमाचल प्रदेश के इस छोटे पर्यटन स्थान को पहाड़ों की रानी के नाम से भी जाना जाता है यह अंग्रेजो की ग्रीष्म कालीन राजधानी की यह की सुंदरता को शब्दों में बताना बहुत ही मुश्किल है यह एक ऐसी जगह है जहां की हर चीज अनोखी है फिर वह चाहे यहां का मॉल रोड हो या झाकू मंदिर मशोबरा हो या शिमला की हर एक जगह  प्राचीन काल की झलक आज भी दिखती है। सर्दियों के समय में यहां पर जम कर बर्फ गिरती है। 

नैनीताल उत्तराखंड:

 नैनीताल को जाना जाता है अपनी झीलों के लिए यह जगह पूरी तरह से झीलों से गिरी हुई है, उत्तराखंड के पर्यटन स्थान पर्यटकों का पसंदीदा स्थान है दोस्तों के साथ पिकनिक अथवा परिवार के साथ समय बिताना हो हर तरह से यह स्थान आपके लिए अच्छा है ग्रीष्मकाल में नैनीताल की खूबसूरती और ठंडा मौसम सैलानियों को अपनी तरफ खींच लाते हैं और सर्दियों में बर्फबारी और विंटर स्पॉट इसे और भी आकर्षक बना देते हैं यहां की सुंदरता ही काफी है किसी को भी पागल करने के लिए इसलिए यह जगह इतनी खूबसूरत है। 

ऊटी तमिलनाडु:

 ऊटी शहर उदगमंडलम के नाम से भी जाना जाता है, जो तमिलनाडु ही नहीं बल्कि कर्नाटक राज्य की सीमा से सटा हुआ है इस स्टेशन पर पहुंचने के लिए आप वायुयान ट्रेन या बस किसी का भी प्रयोग कर सकते हैं इसके साथ ही यहाँ चलने वाली टॉय ट्रेन भी आपको जरूर भाएगी दक्षिण भारत के अन्य स्थानों की तुलना में यहां का मौसम हमेशा ठंडा और खुशनुमा रहता है इसलिए गर्म कपड़े साथ लेकर जाएं डोडाबेट्टा चोटी बॉटनिकल गार्डन, ऊटीझील कालहट्टी जलप्रपात, कोटागिरी हिल यहाँ के प्रमुख दरसनीय स्थानों में से है। 

मनाली:

 मनाली को इसकी सुंदरता के साथ-साथ इसके हिंदुओं के लिए धार्मिक महत्व के लिए भी जाना जाता है मनाली तक पहुंचना बहुत ही आसान है और यहां आपको अपने मनोरंजन के लिए वो सब कुछ मिल जाएगा जैसे रिवर राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग, ट्रैकिंग कई ऐसे स्थान हैं जहां आपको जरूर जाना चाहिए जैसे ही हिडिम्बा मंदिर, विशिष्ट कुंड, मणिकरण, रोहतांग पार्क, सोलंग नाला इसलिए जब भी यहां जाएं अतिरिक्त समय निकालकर जाएं। 

मंसूरी:

उत्तराखंड राज्य के देहरादून से 35 किलोमीटर की दूरी पर है इस पर्यटन स्थान से  शिवालिक पर्वतमाला और दून घाटियों का नजारा देखते ही बनता है। इस जगह का नाम मंसूर नाम की झाड़ी से लिया गया है क्षेत्र में बहुत अधिक पाई जाती है गर्मियों में यहां का मौसम सुहावना रहता है और सर्दियों में यहाँ बर्फ बारी का मजा भी लिया जा सकता है। अगर आप यहाँ जाने की सोच रहे है तो यहाँ के केम्पटी फॉल, लाल टिम्बा, ज्वाला देवी मंदिर यह जगहे जरूर देखे। 

अल्मोड़ा:

अल्मोड़ा को भारत का स्विट्जरलैंड भी कहा जाता है। यहां के बर्फ के पहाड़ रुई जैसे सफेद पर हरी भरी घास सुंदर झरने और यहां से सुंदर द्रश्य इस हिल स्टेशन की सुंदरता में चार चांद लगाते हैं, यहां पहुंच कर आप अपनी थकान को पलभर में ही भूल जाएंगे यहाँ का नैना देवी मंदिर प्राइस एवं कॉर्नर चितई मंदिर कटारमल मंदिर, बीनरस और कोशी देखने के लिए उपयुक्त है। अगर आप ट्रैकिंग के शौकीन है तो भी आप अल्मोड़ा इसके लिए उपयुक्त है। 

माउंट आबू:

  राजस्थान का सबसे सुंदर पर्यटन स्थल माउंट आबू यह एक ठंडी जगह है जहा सैलानी अधिक से अधिक पहुंचते है। आज ही नहीं बल्कि कई सालों पहले जब प्राचीन काल से ही यहाँ के लोग इस ठंडी जगह पर आते थे।   केवल हिंदुओं की ही नहीं बल्कि जैन धर्म के लोगों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। 

दार्जिलिंग वेस्ट बंगाल:

 पश्चिम बंगाल सिलीगुड़ी से 80 किलोमीटर दूर यह पर्यटन स्थान किसी जन्नत से कम नहीं है, दार्जिलिंग की सुंदरता का जादू ही है जिसके कारण यहां हर मौसम में लोगों की भीड़ रहती है, यहां उगने वाली चाय भी पूरे संसार में प्रसिद्ध है। यह पर्यटन स्थल को अंग्रेजों के समय में ही विकसित हो गया था। 

  मुन्नार केरल:

 केरल राज्य का यह पर्यटन स्थल  भारत के ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रसिद्ध है. यह पर्यटन स्थल अंग्रेजों के समय से ही प्रसिद्ध है अंग्रेजों के समय में यह उनका ग्रीष्मकालीन रिसोर्ट हुआ करता था।मुन्नार वह शब्द असल में एक मलयालम शब्द है जिसका मतलब होता है तीन नदियों का संगम मुन्नार में मधुरपुजहा, नल्लाथनि और कुंडाली नदिया एक ही जगह पर मिलती हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.