रीवा शहर के सिविल लाइन थाना अंतर्गत वेंकट मार्ग स्थित दीप लॉज में चल रहे सेक्स रैकेट का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस सूत्रों की मानें तो गिरोह की सरगना सितारा मैडम 1000 रुपए में ग्राहकों को फंसाती थी। जिससे दो घंटे के लिए लॉज संचालक को 200 रुपए देती थी। जबकि 300 रुपए में बिचौलियों सहित मैडम का कमीशन होता था। वहीं बचे हुए 500 रुपए सेक्स रैकेट में शामिल युवतियों और महिलाओं दिया जाता था।

रविवार की रात दबिश में पांच महिलाओं सहित 7 पुरुष व तीन अन्य को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। महिला पुलिस अधिकारियों की पूछताछ पूरी होने के बाद महिला थाने में अपराध क्रमांक 01/2022 आईपीसी की धारा 1956 अनैतिक व्यापार अधिनियम 3, 4, 5, 7 के तहत कार्रवाई करते हुए सोमवार की दोपहर मेडिकल चेकअप। इसके बाद सोमवार की शाम को जिला न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

बता दें कि रविवार की रात सीएसपी एसएन प्रसाद के नेतृत्व में टीम गठित कर सिविल लाइन थाना प्रभारी निरीक्षक अवनीश पाण्डेय, अमहिया थाना प्रभारी उपनिरीक्षक शिवा अग्रवाल और महिला थाना प्रभारी निरीक्षक प्रियंका पाठक ने अस्पताल चौराहा स्थित सितारा खान की दुकान और दीप लॉज में पुलिस ने छापा मारा था। जहां से आपत्तिजनक हालत में 5 महिलाए और 5 पुरुषों को पुलिस ने पकड़ा था। तब पुलिस ने सेक्स रैकेट में शामिल होटल संचालक, मैनेजर, सरगना ​सहित दो अन्य लोगों को गिरफ्ताार किया था।

ये आरोपी हुए थे गिरफ्तार
पुलिस की मानें तो सेक्स रैकेट मामले में रामस्वयंबर पाण्डेय निवासी गुढ़, अतुल अवस्थी निवासी महसुआ थाना रायपुर कर्चुलियान, देवलाल गुप्ता निवासी सेमरिया, रमाशंकर शर्मा निवासी बोदाबाग, राकेश पटेल निवासी धौरहरा अमरपाटन जिला सतना, सत्यनारायण गुप्ता निवासी दीप लॉज और सितारा खान सहित महिलाओं को देह व्यापार में लिप्त होने पर पकड़ा था।

सतना की 3 महिलाओं सहित रीवा की दो युवतियां पकड़ाई
सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ करनी वाली पुलिस टीम का दावा है कि देह व्यापार में लिप्त तीन महिलाएं सतना जिले की रहने वाली है। साथ ही इस कारोबार में रीवा की दो युवतियों को शामिल किया गया था। जिनकी उम्र लगभग 19 वर्ष के आसपास है। चर्चा है कि सितारा द्वारा लड़कियों को बुलाकर देह व्यापार में उपयोग किया जाता था।

अस्पताल चौराहा बना था देह व्यापार का अड्डा
सूत्रों का दावा है कि लंबे समय से अस्पताल चौराहा के समीप स्थित एक दुकान से देह व्यापार का कारोबार चल रहा था। चर्चा है कि शहर के कई अन्य इलाकों में भी इस तरह की ग​तिविधियां होती है। लेकिन स्थानीय पुलिस के जिम्मेदार सब जानकर भी अनजान बने रहते थे। लेकिन नए एसपी नवनीत भसीन को जैसे ही नेटवर्क के बारे में भनक लगी तो कार्रवाई करना पड़ा।

सितारा के नेटवर्क में कई महिलाएं
सेक्स रैकेट के भंडाफोड़ होने के बाद कहा जाता है कि सितारा के नेटवर्क में कई महिलाएं काम करती थी। जो ज्यादातर सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र की रहने वाली है। ऐसे में इस कार्रवाई से सिटी कोतवाली पुलिस को दूर रखा गया था। दावा है कि अस्पताल चौराहा स्थित दुकान में एक हजार रुपए जमा कराने के बाद सितारा लड़कियों को दीप लॉज भेजा करती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.