सागौन की लकड़ी तस्करी

सागौन की लकड़ी तस्करी:

सागौन की लकड़ी की तस्करी करने वालों के खिलाफ 15 दिन से योजनाबद्ध काम कर रहे डीएफओ ने सिंघम स्टाइल में अपने स्टाफ समेत भारी पुलिस बल के साथ शनिवार सुबह 5 बजे लकड़ी तस्करों के गोदामों और दुकानों पर कार्रवाई कर भारी मात्रा में सागौन की लकड़ी समेत दो मशीनें जब्त की हैं। डीएफओ की इस कार्रवाई से लकड़ी तस्कारों में हड़कंप मच गया।


पन्ना जिले में सागौन तस्कर हरे-भरे जंगलों को तबाह करने में लगे हुए हैं, जिसकी शिकायतें लगातार वन विभाग को मिल रही थीं। घनी बस्तियों में घर में घुसकर कार्रवाई किसी चुनौती से कम नहीं थी, लेकिन शनिवार सुबह 5 बजे वन विभाग, राजस्व और पुलिस की 200 सदस्यीय टीम ने संयुक्त कार्रवाई कर भारी मात्रा में अवैध सागौन की लकड़ी सहित लकड़ी को काटने वाली दो मशीनें भी जब्त कीं।


तस्कारों में मचा हड़कंप:

डीएफओ की इस कार्रवाई से लकड़ी तस्करों में हड़कंप मच गया। कार्रवाई में 15 घरों से कई लाख की बेशकीमती अवैध सागौन की लकड़ी जब्त की है। वहीं इस दौरान एक घर से 12 सिंघा के सींग भी बरामद हुए हैं, जिनपर वाइल्डएक्ट के तहत कार्रवाई की गई।


16 जगहों पर छापा मारा:

वहीं उत्तर वन मंडलाधिकारी पन्ना गौरव शर्मा ने बताया कि 15 दिन से हमारा स्टाफ राेजाना रात में इनके ठिकानों पर जाकर यह देख रहा था कि वहां का स्टाफ किस तरह का है, फर्नीचर वाले कहां पर लकड़ी और मशीन रखे हुए हैं। हमें लगभग 6-7 दिन से सूचना मिल रही थी कुछ जगह पर लकड़ी को शिफ्ट भी किया जा रहा है। इसलिए हमें कार्रवाई जल्दी करनी थी। इसलिए हमने कलेक्टर और एसपी को इसके बारे में बताया तो उन्होंने इसमें पूरा सहयोग दिया। हमने 16 जगहों पर छापे मारकर भारी मात्रा में सागौन की लकड़ी और दो मशीन जब्त की हैं।


यह भी पढ़े:-

  1. धोखाधड़ी: चाचा को इलाज के बहाने झांसा देकर कलेक्टर लेकर पहुंचा भतीजा, 4 एकड़ जमीन कराई पत्नी के नाम, पीड़ित की शिकायत पर मामला दर्ज
  2. M.P NEWS: ग्वालियर में 8वीं की छात्रा से दुष्कर्म का मामला आरोपी फरार
  3. Jobs Update: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 71वें जन्मदिवस पर भारतीय रेलवे ने रेल कौशल विकास योजना के तहत 50,000 युवाओं को ट्रेनिंग देगी इंडियन रेलवे
  4. LIC Jeevan Labh Policy: LIC की इस पॉलिसी में महज 233 रुपए जमा कर पा सकते हैं 17 लाख, जानिए स्कीम की खासियत


Leave a Reply

Your email address will not be published.