9वीं कक्षा के छात्र की रैगिंग : पहले बुरी तरह पीटा फिर गंदे पानी में मुर्गा बनाया, टीकमगढ़ के सरोज कॉन्वेंट प्राइवेट स्कूल की घटना

0
13

सरोज कॉन्वेंट प्राइवेट स्कूल टीकमगढ़ की 9वीं की छात्र से रैगिंग का मामला सामने आया है. सीनियर छात्रों ने छात्र को बुरी तरह पीटा। इसके बाद उसे गंदे पानी से भरे गड्ढे में मुर्गा बना दिया। सीनियर छात्रों ने भी पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी। मारपीट का वीडियो सामने आया है।

रैगिंग की घटना से छात्र इतना डरा हुआ है कि उसने स्कूल जाना भी बंद कर दिया। घटना के 7 दिन बाद भी कोतवाली पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है. इस मामले में पीड़ित छात्र ने 14 अक्टूबर को कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई थी.

एक महीने पहले रैगिंग को लेकर शुरू हुआ था विवाद

पीड़ित छात्र ने बताया कि करीब एक महीने पहले सीनियर छात्र ने क्लास में रैगिंग की थी. इसकी शिकायत स्कूल टीचर से की गई थी। स्कूल टीचर ने सीनियर छात्र को फटकार लगाई थी। इसके बाद 24 सितंबर को 3-4 सीनियर छात्रों ने स्कूल के पास धमकी दी. फिर 13 अक्टूबर को उसके अन्य दोस्त सीनियर्स के साथ मुझे सिविल लाइन रोड से जबरन ले गए।

छात्र ने एसपी से मांगी मदद

पीड़ित छात्र ने कोतवाली थाना प्रभारी के नाम लिखे आवेदन में बताया था कि 13 अक्टूबर को वह पुलिस लाइन रोड से जा रहा था. तभी उनके स्कूल की 10वीं और 11वीं के सीनियर्स वहां आ गए। जबरदस्ती उसे बाइक पर बिठाकर ले गए। उसे सुनसान जगह ले जाया गया और बुरी तरह पीटा गया। इसके बाद वहां के गंदे पानी में मुर्गा बना दिया। बुजुर्ग उसे बेहोशी की हालत में छोड़कर फरार हो गए। पीड़ित छात्र के आंख और कान में गंभीर चोटें आई हैं।

पीड़ित का कहना है कि वरिष्ठों ने उसका मोबाइल तोड़ दिया और उसकी जेब में रखे 2710 रुपये भी ले गए. उन्होंने पुलिस में शिकायत न करने की धमकी भी दी। शुक्रवार को छात्र ने एसपी कार्यालय पहुंचकर मामले की शिकायत की.

तीन बच्चों को 10 दिनों के लिए स्कूल से निकाला गया

इस मामले में स्कूल के प्राचार्य दिनेश तिवारी ने बताया कि पीड़ित छात्र की शिकायत पर 10वीं कक्षा के एक छात्र और 11वीं कक्षा के दो छात्रों को 10 दिन के लिए स्कूल से निष्कासित कर दिया गया है. मामले की शिकायत उनके परिवार वालों से भी की गई है। हमले में शामिल अन्य बच्चे हमारे स्कूल के नहीं हैं।

पुलिस कर रही है चेकिंग

छात्र के साथ मारपीट का वीडियो 6 दिन बाद सामने आया था। इधर, कोतवाली थाना प्रभारी मनीष अहिरवार का कहना है कि सीनियर छात्रों के परिजनों व स्कूल प्राचार्य को थाने बुलाया गया. सभी छात्र नाबालिग हैं, इसलिए मामले की जांच की जा रही है। एक बार फिर दोनों पक्षों को बुलाकर कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here