पचली पंचायत में सरपंच पद के उम्मीदवार रहे कृष्ण प्रकाश गौतम चुनाव रद्द होने पर बेहद खुश हैं। इस खुशी में उन्होंने बैंड-बाजा बजवाकर बारात निकाली। कृष्ण प्रकाश ने कहा कि हर प्रत्याशी को खुश रहकर सरकार के फैसले का स्वागत करना चाहिए।

सतना जिले के बिरसिंहपुर तहसील की पचली कला पंचायत में सरपंच पद अनारक्षित था। इस पद के लिए 6 कैंडिडेट ने नामांकन दाखिल किया था। कृष्ण प्रकाश गौतम को ताला-चाभी चुनाव चिन्ह आवंटित हुआ था। दूसरे कैंडिडेट्स की तरह प्रचार सामग्री छपवा चुके थे। यही नहीं, ग्रामीणों को कंबल भी बांट चुके थे। हालांकि, लोगों का मानना है कि गौतम की दावेदारी इतनी मजबूत नहीं थी।

Satna News: पति ने पत्नी की कुल्हाड़ी से मार कर हत्या कर दी, और फिर फांसी का फंदा गले मे डाल आत्महत्या कर ली

पिछली बार हारकर भी निकाला था जुलूस
सरपंच पद के प्रत्याशी रहे कृष्ण प्रकाश गौतम साल 2014 में भी सरपंच पद के लिए चुनाव लड़े थे। उन्हें करीब 80 वोट मिले थे। इसके बाद भी उन्होंने पंचायत क्षेत्र में बैंड-बाजे के साथ जुलूस निकाला था। ग्रामीणों ने बताया कि गौतम दिल्ली में रहकर पूजा-पाठ करते हैं। चुनाव के समय ही गांव आते हैं। इस बार भी वे पर्चा भरने के समय ही आए थे। वे दिल्ली से अपने साथ बड़ी संख्या में कंबल भी लाए थे। पर्चा भरने से पहले उन्होंने गांव में कंबल बांटे। लोगों का कहना है कि गौतम को चुनाव लड़ने का शौक है। अब जब चुनाव कैंसिल हो गए हैं, तो वे वापस दिल्ली रवाना होने वाले हैं।

बोले- सबको मनाना चाहिए खुशी
चुनाव निरस्त होने के फैसले पर खुशी मनाने वाले गौतम का कहना है कि सरकार का, मुख्यमंत्री का यह निर्णय अच्छा है। निर्णय जनहित में है। सभी प्रत्याशियों को खुशी मनाना चाहिए। चुनावी तैयारी में पैसा तो खर्च हुआ, लेकिन पैसा तो आता-जाता रहता है। इसी बहाने लोगों से मिलने का उनके बीच जाने का मौका मिला। कृष्ण ने कहा कि अगर सीट फिर अनारक्षित रही, तो वे फिर से चुनाव लड़ेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.