भारत-पाक मैच टी-20 2021: बहुत दिनों के इंतज़ार के बाद होगा आज महामुकाबला, जानिए मैच प्रिडिक्शन, प्लेइंग 11

भारत Vs पाकिस्तान

भारत Vs पाकिस्तान। क्रिकेट का यह ब्लॉकबस्टर मुकाबला हर ICC इवेंट की शान होता है। इस टी-20 वर्ल्ड में यह दोनों टीमें आज शाम 7ः30 से आमने-सामने होंगी। टी-20 फॉर्मेट में पूरे 2045 दिनों के बाद। यानी 5 साल, 7 महीने और 5 दिनों के बाद।भारत के पास है पाकिस्तान को वनडे और टी-20 वर्ल्ड कप मिलाकर लगातार 13वीं बार हराने का मौका।

वहीं, पाकिस्तान के पास है दुनिया के सबसे बड़े टूर्नामेंट में भारत पर पहली जीत हासिल करने का मौका। यह मौका कौन लपकेगा इसका जवाब तो मैच होने पर मिलेगा। फिलहाल हम आपको बता रहे हैं कि इस मैच की पिच कैसी होगी, कौन-कौन से खिलाड़ी इसमें खेल सकते हैं और मुकाबले के नतीजे का दोनों टीमों के टूर्नामेंट में आगे के सफर पर क्या असर होगा।

पिच एंड कंडीशंस

IPL के फेज-2 में हुए मुकाबलों को आधार बनाया जाए तो दुबई की पिच पर 150 से 170 रन के बीच के स्कोर ज्यादा बनते हैं। फेज-2 में यहां 13 मैच खेले गए। इनमें से 9 में बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती। वहीं, पहले बैटिंग करने वाली टीम को सिर्फ 4 मैचों में जीत मिली। इस लिहाज से भारत-पाकिस्तान मुकाबले में टॉस जीतने वाले कप्तान पहले फील्डिंग करना पसंद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:- शाहरुख खान 19 दिन बाद बेटे आर्यन से मिले: आर्यन की आंखों से छलके आंसू आर्यन ने कई बार ‘I am sorry’ बोला

टीम न्यूजः

अश्विन और चक्रवर्ती में किसी एक को मौका संभवभारतीय टीम इस मैच में रवींद्र जडेजा के साथ दूसरे स्पिनर के तौर पर वरुण चक्रवर्ती या रविचंद्रन अश्विन में से किसी एक को मौका दे सकती है। अगर लोअर ऑर्डर में बैंटिंग क्षमता की तलाश होगी तो अश्विन को तरजीह मिलेगी। वहीं, अगर मिस्ट्री से पाकिस्तान को चकमा देने पर जोर होगा तो वरुण को मौका मिल सकता है।

पाकिस्तान की टीम ने मैच से एक दिन पहले ही 12 खिलाड़ियों की लिस्ट जाहिर कर दी है। एकमात्र सवाल यह उठता है कि शोएब मलिक, मोहम्मद हफीज और हैदर अली में कौन एक प्लेइंग-11 से बाहर होगा। अनुभव पर जोर होगा तो मलिक और हफीज दोनों ही प्लेइंग-11 में आ जाएंगे।

शाहीन से रहना होगा भारतीय ओपनर्स को सावधान

शाहीन शाह अफरीदी को पाकिस्तान का अगला वसीम अकरम कहा जाता है। शाहीन पारी की शुरुआत में बेहद घातक गेंदबाज साबित होते हैं। उन्होंने अपने करियर में 61 टी-20 इंटरनेशनल में गेंदबाजी की है। इनमें से 20 बार उन्होंने पहले ही ओवर में विकेट झटका है। इस फैक्ट को ध्यान में रखते हुए भारतीय ओपनर्स को विशेष सावधानी बरतनी होगी।

क्या रोमांच परवान चढ़ पाएगाभारत-पाकिस्तान मैच को हाइप तो बहुत मिलती है लेकिन लंबे समय से इनके बीच ICC टूर्नामेंट में हाई क्वालिटी मुकाबले कम ही हुए हैं। 2007 टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल के बाद लगभग हर मुकाबले में भारतीय टीम ने एकतरफा अंदाज में जीत हासिल की है। इसी तरह पाकिस्तान ने 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में बिल्कुल एकतरफा अंदाज में जीत हासिल की थी।

यह भी पढ़ें:- 15 लाख सुगंधित दीये से लिखा गया ‘राम नाम’: भोपाल के 10 गांव में गोबर से बन रहे दीये अयोध्या-मथुरा भेजेंगे, सभी दियो को अयोध्या भेजने की तयारी

मैच में हार-जीत का क्या असर होगा

भारत और पाकिस्तान की टीमें सुपर-12 के ग्रुप 12 में हैं। इस ग्रुप में कुल 6 टीमें हैं। यानी बिना दूसरी टीमों के नतीजों पर निर्भर हुए सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए एक टीम को पांच में से कम से कम 4 मैच जीतने होंगे। भारत-पाकिस्तान मुकाबले में जो टीम हारेगी उसके लिए ग्रुप स्टेज के बाकी के मुकाबले करो या मरो के समान हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *