मौसम के बदलते ही सभी स्वस्थ रहने के लिए खा सकते हैं ये स्वस्थरहित चीजें, सर्दी-जुकाम से रहेंगे सुरक्षित

0
6

दिल्ली-एनसीआर में इस समय तेज बारिश हो रही है। इस मौसम में फ्लू, बुखार, टाइफाइड और डायरिया जैसी बीमारियों का खतरा सबसे ज्यादा होता है। हृदय और मधुमेह के रोगियों को भी इस समय अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए। मरीजों को इस दौरान अपने शरीर को हाइड्रेट रखना चाहिए। आइए जानते हैं बरसात के मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए।

दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कुछ राज्यों में इस समय बारिश हो रही है. बारिश से मौसम में काफी बदलाव आ रहा है और इस बेमौसम बारिश का असर लोगों के स्वास्थ्य पर भी दिख रहा है. इस समय अस्पतालों में फ्लू, बुखार, टाइफाइड और डायरिया के मरीजों की संख्या भी बढ़ने लगी है। डॉक्टरों के मुताबिक बारिश का मौसम बहुत उमस भरा होता है, जिससे इस मौसम में संक्रमण और मच्छर जनित बीमारियां ज्यादा होती हैं।

हृदय और मधुमेह के रोगियों को भी इस समय अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए। मरीजों को इस दौरान अपने शरीर को हाइड्रेट रखना चाहिए। पानी पीने के साथ-साथ पानी से भरपूर फलों का भी सेवन करना चाहिए। लेकिन कुछ ऐसी चीजें भी खानी चाहिए जिससे इन मौसमी बीमारियों से दूर रह सकें। तो आइए जानते हैं उन चीजों के बारे में, क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए?

मुझे क्या खाना चाहिये?

सूखे मेवे: बरसात के मौसम में सूखे मेवे यानि सूखे मेवे खाना सबसे अच्छा होता है। ये न सिर्फ स्वादिष्ट होते हैं बल्कि सेहतमंद भी होते हैं। ये इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके अलावा, वे प्रोटीन, फाइबर, विटामिन, खनिज जैसे कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

इतना ही नहीं एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर सूखे मेवे मधुमेह, कैंसर, हृदय रोग जैसी गंभीर बीमारियों के खतरे को भी कम कर सकते हैं। ऐसे में यह माना जा सकता है कि सूखे मेवों के सेवन से न केवल बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियों को रोका जा सकता है, बल्कि अन्य दिनों में भी ये उपयोगी हो सकते हैं.

हर्बल टी: बरसात के मौसम में चाय पीने का मजा ही कुछ और होता है. ऐसे में बरसात के मौसम में सामान्य चाय की जगह हर्बल चाय का सेवन करना भी फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, बरसात के मौसम में बैक्टीरिया के कारण कई तरह के संक्रमण का खतरा रहता है। वहीं दूसरी ओर हर्बल टी में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। हर्बल टी में मौजूद यह प्रभाव बैक्टीरिया और इससे होने वाले संक्रमण से बचाने में मददगार हो सकता है। बारिश में भी ग्रीन टी का सेवन फायदेमंद हो सकता है। दरअसल ग्रीन टी में मौजूद एंटी वायरल गुण वायरल इंफेक्शन को रोकने में मददगार होते हैं।

गर्म पानी: गर्म पानी पीने से कई तरह की समस्याओं को दूर किया जा सकता है, लेकिन अगर बरसात के मौसम में गर्म पानी का सेवन किया जाए तो यह ज्यादा फायदेमंद हो सकता है. दरअसल, बरसात के मौसम में नाक बंद और नाक बहना आम बात है। वहीं, शोध में पाया गया है कि गर्म पानी का सेवन नाक बंद होने की समस्या को दूर करने में मददगार माना जाता है।

स्प्राउट्स: स्प्राउट्स या अंकुरित अनाज स्वस्थ भोजन के रूप में जाने जाते हैं। स्प्राउट्स में कई तरह के पोषक तत्व जैसे विटामिन, मिनरल, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन ए, पोटैशियम और विटामिन पाए जाते हैं। स्प्राउट्स एक बेहतर प्रतिरक्षा प्रणाली, रक्त और हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में सहायक होते हैं। यह कैंसर और हृदय की समस्याओं को भी कम कर सकता है। इसके अलावा स्प्राउट्स का सेवन कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार हो सकता है।

ताजी सब्जियां: बरसात के मौसम में ताजी सब्जियों का इस्तेमाल कई तरह के व्यंजनों और व्यंजनों में भी किया जाता है. सब्जियां कैल्शियम, ऊर्जा, मैग्नीशियम, लोहा, कैरोटेनॉयड्स, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन और खनिजों सहित विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। सब्जियों में पाए जाने वाले ये पोषक तत्व न सिर्फ बीमारियों को दूर करने में मदद कर सकते हैं, बल्कि शरीर को ताकत देने के साथ-साथ कुपोषण की समस्या को भी दूर रख सकते हैं। ताजी सब्जियों में ब्रोकली का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है। ब्रोकोली कैंसर, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप को रोकने में भी सहायक हो सकती है। लेकिन ध्यान रहे कि सबसे पहले सब्जियों को अच्छी तरह से धो लें और उसके बाद ही उनका सेवन करें।

क्या नहीं खाना चाहिए?

बरसात के मौसम में भूलकर भी इन चीजों का सेवन न करें। जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, सड़ी सब्जियां-फल, शराब, उच्च कैफीनयुक्त खाद्य पदार्थ, आइसक्रीम, तेल और मसाले।

(Disclaimer: किसी भी चीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here