युवती हुई हैवानियत का शिकार: मध्य प्रदेश के छतरपुर में युवती के साथ दुष्कर्म की कोशिश, विरोध करने पर युवती के दांत तोड़े

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां नौगाँव थाना क्षेत्र अंतर्गत 20 साल की एक अनुसूचित जाति की युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने का प्रयास किया गया। जब युवती ने विरोध किया तो उसके साथ हैवानियत की गई और जानवरों की तरह चेहरे व शरीर को नाखून से नोंंचने के बाद उसके दांत तोड़ दिए गए। युवती को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकरी के अनुसार पीड़िता सुबह शौच के लिए अपने घर से बाहर गई हुई थी तभी रास्ते मे उसे उत्तरप्रदेश झांसी का रहने वाला राजू सिंह परिहार मिला जिसे वह पहले से जानती थी। उससे कई बार फोन पर बात भी कर चुकी थी| पीड़िता ने बताया है कि रास्ते में ही राजू ने उसे जबरन अपने साथ बाइक पर बैठा लिया। जब विरोध किया तो बाइक लड़खड़ाते हुए जमीन पर गिर गई इतने में राजू के अन्य साथी आ गए। ये सभी लोग मेरे साथ जबरदस्ती करने लगे। विरोध करने पर उन्होंने मेरे मुंह पर मुक्के मारे जिससे दांत टूट गए। शरीर को नोंचने की कोशिश की और गला भी दबाया। पीड़िता का कहना है कि घटना के बाद वह बेहोश हो गई। जब उसे होश आया तो उसके मुंह से लगातार खून बह रहा था। पूरे शरीर पर नाखूनों से नोचने के निशान थे।

तबियत बिगड़ी तो जिला अस्पताल रेफर

घटना की रात 2 बजे जब पीड़िता की तबियत अचानक बिगड़ी तो उसे जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया गया। गंभीर हालत देखते हुए युवती को डिलीवरी वार्ड में भर्ती कराया गया और एक बार फिर से मेडिकल किया गया। इस बार मेडिकल जिला अस्पताल में पदस्थ महिला डॉक्टर आरती तिवारी ने किया। नाम न बताने की शर्त पर जिला अस्पताल में ही पदस्थ एक डॉक्टर ने बताया कि युवती के प्राइवेट पार्ट से लगातार खून बह रहा था। इसीलिए उसको प्रसूता वार्ड में भर्ती किया गया है और उसकी मेडिकल रिपोर्ट में पीड़िता के साथ शारीरिक शोषण की बात भी सामने आई है। फिलहाल पीड़िता जिला अस्पताल में भर्ती है जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है।

स्थानीय पुलिस की कार्यवाही पर सवाल

संबंधित मामले में स्थानीय पुलिस ने न सिर्फ लापरवाही बरती है बल्कि कई साक्ष्यों को छिपाने का प्रयास भी किया। परिवार के लोगों का आरोप है कि पुलिस ने घटना की एफआईआर पीड़़िता के बयान पर नहीं बल्कि अपने अनुसार लिखी है। नौगांव थाना पुलिस ने घटना के तुरंत बाद आनन-फानन में राजू परिहार को आरोपी बनाते हुए छेड़छाड़ एवं एससी एसटी एक्ट की धाराओं में मामला पंजीबद्ध कर लिया। चिकित्सकीय जांच भी खानापूर्ति के साथ की गई। वहीं पुलिस के आला अधिकारी संबंधित मामले में एक बार फिर एमएलसी रिपोर्ट के बाद मामले की फिर से जांच की बात कह रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *