CBI का नर्सिंग काउंसिल के दफ्तर पर छापा, खंगाले दस्तावेज, कॉलेजों की मान्यता में गड़बड़ी का मामला

भोपाल. मध्यप्रदेश नर्सिंग काउंसिल के जवाहर चौक स्थित कार्यालय में सोमवार को सीबीआइ ने छापामार कार्रवाई की। टीम सुबह 11 बजे पहुंची और देर रात तक नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता से जुड़े दस्तावेजों की छानबीन करती रही। सीबीआइ ने दस्तावेजों के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर मौके पर उपलब्ध दस्तावेजों को सील कर दिया है। इसके अलावा मान्यता, कॉलेजों में स्टाफ, भवन सहित अन्य दस्तावेजों को उपलब्ध कराने के संबंध में अधिकारियों को कहा है।

प्रदेश में चल रहे फर्जी नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता को लेकर पिछले एक साल से मामला हाईकोर्ट में चल रहा है। काउंसिल के जरिए कई ऐसे कॉलेजों की मान्यता दे दी गई थी, जो सिर्फ दस्तावेजों में ही थे। ये कॉलेज प्रति वर्ष विद्यार्थियों को प्रवेश देते थे और डिग्रियां भी बांटते थे। इस तरह का फर्जीवाड़ा पिछले चार-पांच वर्षों से चल रहा था। जांच में कई ऐसे कॉलेजों की जानकारी भी सामने आई है, जो छोटी-छोटी दुकानों और गली कूचों में संचालित किए जा रहे थे।

इनके पास न तो भवन था और न ही कोई स्टाफ। गौरतलब है कि हाईकोर्ट के निर्देश के बाद नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता के फर्जीवाड़े की जांच सीबीआइ कर रही है। सीबीआइ ने काउंसिल के रजिस्ट्रार सुनीता शिजू सहित अन्य अधिकारियों से कॉलेजों की मान्यता और उनके आवेदनें के संबंध में पूछताछ की।

पांच वर्षों से चल रही है जांच

नर्सिंग कॉलेजों की जांच पिछले पांच वर्षों से चल रही है। जांच के दौरान नर्सिंग काउंसिल के मानदंड पूरे नहीं करने वाले करीब 63 कॉलेजों की मान्यता निरस्त की गई है। करीब सौ से अधिक कॉलेजों की अभी भी जांच मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट के जरिए की जा रही है। प्रदेश में करीब ढाई हजार नर्सिंग कॉलेज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *