दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन

रीवा शहर में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए जिला प्रशासन ने तैयारियां पूर्ण कर ली है। नगर निगम ने इस बार दो दिनों के विसर्जन के लिए प्लान तैयार किया है। ऐसे में शुक्रवार और शनिवार को 12 घाटों में प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाएगा।

इसके पहले निगम ने साफ-सफाई कराते हुए प्रकाश की व्यवस्था बना ली है। साथ ही सुरक्षा के मददेनजर बेरीकेट्स लगवाए है। वहीं सभी घाटों में दो शिफ्टों में राजस्व, पुलिस और नगर निगम कर्मचारियों की संयुक्त रूप से ​ड्यूटी लगाई गई है।

इन घाटों में होगा मूर्ति विसर्जन


बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा 15 अक्टूबर को मूर्ति विसर्जन के लिए एक दर्जन घाट निर्धारित किए है। जिसमे विश्वकर्मा घाट, बाबा घाट, छोटी पुल घाट, करहिया मंडी बोदाबाग पुल घाट, अजगरहा पुल घाट, पुष्पराजनगर घाट, बिछिया घाट, राजघाट उपरहटी, निपनिया पुल घाट, ईदगाह घोघर घाट, लक्ष्मण बाग घाट शामिल है। जबकि किटवरिया घाट बीहर नदी में शाम को अंधेरा होने के पहले तक मूर्ति विसर्जन किया जाएगा।

इन मार्गों में ट्रैफिक रूट रहेगा डायवर्ट

यातायात पुलिस ने जिला प्रशासन के निर्देश पर मूर्ति विसर्जन स्थल जाने वाले मार्गों में ट्रैफिक रूट डायवर्ट किया है। ऐसे शुक्रवार की सुबह 8 बजे से व्यंकट तिराहा से, जयस्तंभ चौक से, पुराना पोस्ट आफिस घोघर से और पुष्पराज नगर से केवल मूर्ति विसर्जन वाले वाहन बड़ी पुल की ओर जा सकेंगे। बाकी अन्य सभी वाहन प्रतिबंधित रहेंगे।

दो दिन शहर में भारी वाहनों की रहेगी नो इंट्री

नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि ज्यादातर दुर्गा पंडालों में नवरात्र के अष्ठमी को हवन तो नवमी को भंडारा व दशहरे को मूर्ति विसर्जन होता है। वहीं बड़ी संख्या में अन्य दुर्गा भक्त नवमी को रात में हवन और दशहरे को भंडारा करते है। ऐसे में ये लोग दशहरा के एक दिन बाद मूर्ति विसर्जन करेंगे। ऐसे में जिला प्रशासन ने 15 और 16 अक्टूबर को दुर्गा विसर्जन को लेकर शहर में भारी वाहनों को प्रतिबंधित किया है। जिससे शुक्रवार की रात और शनिवार को सपूर्ण दिवस के लिए नो इंट्री लागू रहेगी।

एडीएम को बनाया दशहरा के सभी कार्यक्रमों का प्रभारी

कलेक्टर इलैयाराजा टी ने दशहरा पर्व के दिन सभी कार्यक्रमों का प्रभारी एडीएम शैलेन्द्र सिंह को बनाया है। वहीं पांच कार्यपालिक दंडाधिकारी नियुक्त किए गए है। एसडीएम हुजूर अनुराग तिवारी को संपूर्ण कार्यक्रम के दौरान प्रभारी अधिकारी प्रतिकात्मक चल समारोह, दशहरा मैदान, विजर्सन स्थलों पर आरआई और पटवारियों की ड्यूटी लगा सकेंगे। वहीं संयुक्त कलेक्टर अरविंद कुमार झा और डिप्टी कलेक्टर एके सिंह को दशहरा मैदान का जिम्मा सौंपा गया है।

जबकि हुजूर तहसीलदार आरपी त्रिपाठी को चल समारोह, दशहरा मैदार और दुर्गा विसर्जन स्थल बाबा घाट घोंघर में ड्यूटी पर मौजूद रहेंगे। इसी तरह नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला को छतुरिया घाट बिछिया, रत्नराशि पाण्डेय को विश्वकर्मा मंदिर बड़ी पुल और निवेदिता त्रिपाठी को निपनिया पुल की कार्यपालिक दंडाधिकारी होंगी।

विसर्जन स्थल में सिर्फ 10 लोगों को अनुमति

प्रतिमा विसर्जन को लेकर शासन ने जो गाइडलाइन तय की है, उसमें कोरोना को देखते हुए 10 लोगों को ही प्रतिमा विसर्जन के लिए जाने की अनुमति है। जबकि सबको मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी रहेगी।

नगरीय निकायों को जलाशयों, नदियों और तालाबों में विसर्जन के लिए विसर्जन कुंड का निर्माण करने और मूर्ति एवं पूजा सामग्री जैसे फूल, वस्त्र, कागज एवं प्लास्टिक से बनी सजावट की वस्तुओं को मूर्ति विसर्जन के पूर्व अलग करने के बाद उनका अलग से डिस्पोज करने के निर्देश है, ताकि नदी व तालाब में प्रदूषण की स्थिति नियंत्रित हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.