सतना जिला अस्पताल के मुख्य ऑपरेशन थियेटर के बगल में लगे विद्युत बॉक्स में बुधवार शाम 5 बजे शार्ट सर्किट से चिंगारी उठी और अचानक आग भड़क गई। हादसे के बाद अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। लोग घबराकर यहां-वहां भागने लगे। गनीमत रही कि विद्युत बोर्ड के नीचे मरीजों के परिजन नहीं बैठे थे वरना बड़ा हादसा हो सकता था। सूचना मिलते ही सिविल सर्जन डॉ रेखा त्रिपाठी मौके पर पहुंचीं और इलेक्टीशियन को तलब कर जमकर फटकार लगाई।

बताया गया कि ऑपरेशन थियेटर के बाहर की ओर विद्युत बोर्ड लगा है। वायरिंग ओपन न हो, इसलिए लकड़ी के बॉक्स बनाए गए हैं। ठीके इसके नीचे मरीजों के परिजनों के बैठने की व्यवस्था की गई है। सर्जरी के दौरान ओटी के बाहर इसी स्थान पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहते हैं। बुधवार शाम 5 बजे बोर्ड में शार्ट सर्किट से अचानक आग लगी। गनीमत रही कि तब सर्जरी नहीं हो रही थी। इससे मरीजों के परिजन नहीं बैठे थे। यदि मरीजों के परिजन बैठे होते तो बड़ा हादसा हो सकता था। आग लगने के बाद ऑपरेशन थिएटर के बाहर अफरा तफरी का माहौल बन गया था। मरीजों के परिजन और जिला अस्पताल के कर्मचारियों ने अग्निशामक यंत्रों की मदद से आग पर काबू पाया। 15 मिनट की मशक्कत के बाद आग बुझ पाई, तब कर्मचारियों ने राहत की सांस ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.