भोपाल में लगातार तीसरे दिन भारी बारिश: रतलाम, शिवपुरी में भी बरसा पानी मध्यप्रदेश में 20 अक्टूबर तक अलर्ट

0
8

मध्य प्रदेश के कई इलाकों में दशहरे से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला लगातार तीसरे दिन भी जारी है. भोपाल में शुक्रवार शाम से तेज बारिश शुरू हो गई। पहले दिन भर बादल छाए रहे। तेज बारिश से एक बार फिर सड़कों पर पानी भर गया। रतलाम और शिवपुरी में भी बारिश हुई है। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती सिस्टम से मध्य प्रदेश एक बार फिर मात खा गया है।

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि ट्रफ रेखा मध्य प्रदेश से होते हुए उत्तराखंड की ओर बढ़ रही है। बारिश का दौर 20 अक्टूबर को या उसके बाद भी जारी रह सकता है। यानी 24 अक्टूबर को दिवाली पर भी बारिश हो सकती है। शुक्रवार को भोपाल, ग्वालियर समेत आधे राज्य में बूंदाबांदी या भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने भी अलर्ट जारी किया है। भोपाल में गुरुवार रात भी तेज बारिश हुई थी।

एक सप्ताह के भीतर ही राज्य में मौसम ने फिर करवट ली। इससे दशहरे का लहजा फीका पड़ गया है। दशहरे के दिन पूरे राज्य में बारिश हुई। बारिश में भीग गए रावण के पुतले। इससे रावण दहन का कार्यक्रम बाधित हो गया। राजधानी भोपाल में रात भर झमाझम बारिश होती रही। वहीं गुरुवार को भी मौसम सर्द बना रहा। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी वेदप्रकाश सिंह ने बताया कि राज्य में 12 अक्टूबर तक मध्यम या भारी बारिश की संभावना है। बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती सिस्टम बनने और मध्य प्रदेश से गुजरने वाली एक ट्रफ रेखा के कारण मौसम बदल गया है। रिमझिम बारिश का दौर 20 अक्टूबर तक जारी रहेगा।

3 साल बाद अक्टूबर में खुले भदभदा के कपाट

राजधानी में लगातार दो दिनों से बारिश हो रही है. गुरुवार रात 8 बजे के बाद भोपाल में तेज बारिश हुई। पिछले 25 घंटे में यहां ढाई इंच से ज्यादा पानी बरस चुका है। रात 11 बजकर 40 मिनट पर भादभदा बांध का गेट खोलकर पानी निकाला गया. भादभदा बांध के प्रभारी अजय सिंह सोलंकी के मुताबिक, 19 साल में तीसरी बार भदभदा बांध के गेट अक्टूबर में खोले गए. इससे पहले 2003 और 2019 में भी अक्टूबर में भादभदा बांध के गेट खोलने का मौका मिला था।

इन जिलों के लिए आज यलो अलर्ट:

नर्मदापुरम, हरदा, बैतूल, विदिशा, सीहोर, बुरहानपुर, खरगोन, धार, इंदौर, देवास, गुना, बालाघाट, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़ सहित सागर, भोपाल, नर्मदापुरम, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और चंबल संभाग के लिए मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी किया गया है। यहां मध्यम या भारी बारिश की संभावना है। बिजली गिरने या गरज के साथ छींटे पड़ने की भी संभावना रहेगी।

रतलाम में भारी बारिश, 24 घंटे में 4 इंच बारिश:

मध्य प्रदेश के 22 से ज्यादा जिलों में भारी बारिश हुई. 24 घंटे के भीतर रतलाम में सबसे ज्यादा बारिश हुई। यहां करीब 4 इंच बारिश हुई। वहीं, खंडवा के पास 3 और रायसेन के ढाई इंच से ज्यादा थे। सागर, भोपाल, उज्जैन, खरगोन, छतरपुर, खजुराहो, इंदौर, बैतूल, धार, पचमढ़ी, नौगांव, गुना, नर्मदापुरम, शिवपुरी, ग्वालियर, मंडला, जबलपुर आदि शहरों में भी बारिश हुई। अगले 24 घंटों के दौरान अच्छी बारिश की संभावना है।

इन संभाग/जिलों में बारिश होने के आसार

  1. 6 से 9 अक्टूबर तक: ग्वालियर, बुंदेलखंड, बघेलखंड, भोपाल और नर्मदापुरम।
  2. 9 से 12 अक्टूबर तक: भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर, बघेलखंड, इंदौर और महाकौशल।
  3. 12 से 15 अक्टूबर तक: बुंदेलखंड, इंदौर, भोपाल, नर्मदापुरम, रायसेन, विदिशा, बैतूल, खंडवा में कहीं-कहीं हल्की से तेज बारिश।
  4. 15 और 18 अक्टूबर तक: गुना, अनूपपुर, इंदौर, उज्जैन, भोपाल, रायसेन, विदिशा, सीहोर और छिंदवाड़ा।
  5. 18 से 21 अक्टूबर तक: बालाघाट, सिवनी, छिंदवाड़ा, रायसेन, शिवपुरी, अशोकनगर, विदिशा, निवाड़ी, छतरपुर और दमोह।
  6. 21 से 24 अक्टूबर तक: बालाघाट, ग्वालियर, शिवपुरी, श्योपुरकलां, विदिशा में कहीं-कहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here