भिलाई में महज आधे घंटे की बारिश में शहर के चारों अंडर ब्रिज पानी से लबालब हो गए, 3 घंटे से हजारों लोग परेशान, ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ी

भिलाई में महज आधे घंटे की बारिश ने निगम प्रशासन की व्यवस्था की पोल खोल दी है. शहर के चारों अंडर ब्रिज में पानी भर गया है। इससे हजारों की संख्या में लोगों को इस ओर से बस्ती की ओर और बस्ती की ओर से ट्रैक पार करने के लिए परेशान किया गया. कई लोगों ने अपनी बाइक निकालने की कोशिश की, लेकिन पानी ज्यादा होने के कारण बाइक रुक गई और उसके साइलेंसर में पानी भर गया.

दोपहर एक बजे से मंगलवार दोपहर दो बजे तक झमाझम बारिश हुई। महज आधे घंटे की बारिश में नेहरू नगर, प्रियदर्शिनी कॉम्प्लेक्स, चंद्र मौर्य और पावर हाउस समेत भिलाई के चार अंडरब्रिज जलमग्न हो गए. बताया जा रहा है कि भिलाई-3 के सिरसा गेट स्थित अंडरब्रिज का भी यही हाल था.

हालत यह थी कि इन अंडरब्रिज से वाहन भी नहीं गुजर सकते थे। साइकिल सवार कंधे में साइकिल लेकर पानी में डूब कर पार कर गए तो कई बाइक सवारों ने हिम्मत जुटाई और सैकड़ों लोग पानी के उतरने का इंतजार करते रहे. किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने बेरिकेड्स लगाकर अंडर ब्रिज को बंद कर दिया था. इससे शहर में करीब दो से तीन घंटे तक यातायात व्यवस्था ठप रही।

लोगों ने कहा सुपेला अंडरब्रिज बनाने का फैसला गलत

जब अंडरब्रिज में फंसे लोगों से बात की तो सभी ने कहा कि सरकार विकास के नाम पर पैसा बर्बाद कर रही है. सरकार को अंडरब्रिज की जगह ओवर ब्रिज बनाना चाहिए। अंडरब्रिज बारिश से भर जाते हैं। निगम या जिला प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं देता। इससे ट्रैफिक व्यवस्था गड़बड़ा जाती है। इससे आम लोगों को काफी परेशानी होती है।


झांकने तक नहीं पहुंचे जिम्मेदार

करीब तीन घंटे तक अंडरब्रिज में पानी भरने से लोग काफी परेशान रहे। निगम अंडरब्रिज में मोटर लगाकर पानी निकालने का दावा करता है, लेकिन सच्चाई यह है कि चंद्र मौर्य अंडरब्रिज में गटर के पानी तक पहुंच रहे थे। इतनी हंगामे के बाद भी दूर स्थित निगम कार्यालय या अन्य जिम्मेदार अधिकारी एक झांक तक नहीं पहुंचे।

ओवर ब्रिज पर बढ़ा वाहनों का दबाव

शहर के चारों अंडरब्रिज भरने से पावर हाउस और नेहरू नगर अंडरब्रिज में वाहनों का दबाव काफी बढ़ गया था। सभी वहां से आगे-पीछे जा रहे थे। इससे ओवर ब्रिज के पास व ऊपर जाम की स्थिति बन गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *