कानपुर में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर से 150 करोड़ नहीं, बल्कि 177 करोड़ रुपए बरामद हुए हैं। सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम (CBIC) और आयकर विभाग (IT) के अफसर भी एक छापे में मिले इतने कैश को देखकर हैरान हैं। बरामद रकम की गिनती के लिए 13 मशीनों को लगातार 36 घंटे तक काम करना पड़ा। एक सीनियर अफसर ने कहा कि उन्होंने अपनी नौकरी में इतना कैश कभी नहीं देखा।

इधर, कानपुर से सटे कन्नौज में इत्र कारोबार से ही जुड़े दो कारोबारियों रानू मिश्रा और विनीत मिश्रा के यहां देर रात CBIC और IT के टीम ने छापे मारे हैं। इनके यहां कार्रवाई चल रही है। फिलहाल, इनके यहां से क्या बरामद हुआ है। इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली है। बताया जा रहा है कि इन दोनों का भी पीयूष जैन से कनेक्शन है।

CBCID और IT के अफसर जैन के घर से मिले कैश और जेवर RBI चेस्ट में रखवाने की कवायद में परेशान रहे।

CBCID और IT के अफसर जैन के घर से मिले कैश और जेवर RBI चेस्ट में रखवाने की कवायद में परेशान रहे।

देर रात तक नोटों की ढुलाई चलती रही
शुक्रवार देर रात 1 बजे तक नोटों को जैन के घर से RBI चेस्ट तक ढोने का काम चलता रहा। नकदी को 42 बड़े बक्सों में भरकर कंटेनर में पुलिस सुरक्षा में भेजा गया। जैन के घर से सोने के बेशकीमती कई जेवर भी मिले हैं। इन्हें बक्सों में सील कर ले जाया गया है। एक लॉकर के साथ कई डॉक्यूमेंट भी जब्त किए गए हैं। अभी CBIC और IT के अफसर पीयूष जैन के घर पर ही हैं। शनिवार को भी जांच जारी रहेगी।

पीयूष के कन्नौज वाले घर में भी मिला खजाना
पीयूष जैन मूलरूप से कन्नौज के रहने वाले हैं। कानपुर में उनके घर में छापेमारी के बाद पीयूष के बेटे प्रत्यूष को लेकर CBIC और IT के अफसर शुक्रवार शाम को कन्नौज स्थित घर पहुंचे थे। यहां पर सिर्फ दो कमरों की तलाशी में टीम को 4 करोड़ रुपए मिले हैं। अभी भी घर के कई कमरे बंद हैं।

घर के बाकी कमरों में भी भारी मात्रा में कैश मिलने की उम्मीद है। इनकी तलाशी के लिए अफसरों की एक्स्ट्रा टीम बुलाई गई है। वहीं, सुरक्षा के लिहाज से बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को भी बुला लिया गया है। शनिवार को इस घर में सर्चिंग का काम किया जाएगा, इसके बाद ही यहां मौजूद कैश और दस्तावेज का खुलासा हो सकेगा।

पीयूष जैन के घर पर छापे के दौरान IT टीम ने दीवारों में इस तरह छिपाकर रखे गए नोटों के बंडल बरामद किए।

पीयूष जैन के घर पर छापे के दौरान IT टीम ने दीवारों में इस तरह छिपाकर रखे गए नोटों के बंडल बरामद किए।

पान मसाला सप्लाई करने वाले ट्रांसपोर्ट पर भी छापा
शिखर पान मसाला पूरे देश में सप्लाई करने का काम गणपति रोड कैरियर के मालिक प्रवीण जैन के पास था। IT टीम ने इस ट्रांसपोर्ट पर भी छापा मारा। कार्रवाई में ट्रांसपोर्टर प्रवीण जैन के घर से 45 लाख और आफिस से 56 लाख रुपए कैश मिला। यहां IT टीम ने 3.09 करोड़ रुपए का टैक्स और जुर्माना जमा कराया है।

इस मामले में ट्रांसपोर्टर प्रवीण का कहना है कि पीयूष उनके रिश्तेदार हैं, लेकिन कन्नौज के सपा MLC पुष्पराज जैन ‘पंपी’ से उनकी कोई रिश्तेदारी नहीं है। GST इंटेलिजेंस की टीम ने गुजरात में शिखर पान मसाला से लदे हुए प्रवीण जैन के ट्रक पकड़े थे, जिसके बाद इस पूरे खेल का खुलासा हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.