सतना में करोड़ों की जमीन पर कब्जा करने के इरादे से भूमाफिया ने उत्पात मचाया। वह किराए के गुंडों और फर्जी एसडीएम के साथ यहां पुष्करणी पार्क के पास आधी रात को पहुंच गया। यहां अतिक्रमण बताकर लोगों के मकान तोड़ने शुरू कर दिए। बिजली काट दी। आधा दर्जन कच्चे-पक्के मकान जेसीबी से तोड़ दिए। इसके बाद यहां हंगामा हो गया।

सुबह पुलिस और प्रशासन के अफसर पहुंचे तो पूरा मामला सामने आया। इसके बाद गुस्साए लोगों ने फर्जी एसडीएम की जमीन पर पटक कर लात-घूंसों से पिटाई कर दी। पुलिस ने 18 लोगों के खिलाफ डकैती का केस दर्ज किया है। खुद को एसडीएम बताने वाले विनोद शर्मा के खिलाफ भी छद्म पहचान बताने के मामले में केस दर्ज हुआ है। वहीं, मास्टर माइंड समेत 15 लोगों को हिरासत में लिया है।

सड़क पर आ गए कई परिवार।

जानकारी के मुताबिक पुष्करणी पार्क के पास स्थित गुप्ता पैलेस और उसके आसपास की जमीन पर कब्जा करने की भू-माफिया की हरकत से हंगामा हो गया। लोगों का कहना है कि रात करीब साढ़े 3 बजे भागवत गुप्ता नाम का शख्स 2 जेसीबी और करीब दो दर्जन गुंडों को लेकर पहुंचा। उसके इशारे पर गुंडों ने गुप्ता पैलेस और उसके आसपास बने आधा दर्जन से अधिक कच्चे-पक्के मकान के बाहरी हिस्सों को तोड़ दिया। तोड़फोड़ के पहले घरों की बिजली काटी गई। आवाज और बिजली गुल होने से लोग बाहर निकले तो होश उड़ गए।

भू-माफिया ने कई मकानों को धराशायी कर दिया।

लोगों का कहना है कि तोड़फोड़ करने वालों में महिला बाउंसर भी थीं। जब कारण पूछा तो गुर्गे मारपीट पर उतारू हो गए। ऐतराज जताने वालों को पहले पीटा गया। फिर उन्हें बंधक भी बना लिया गया। लोगों ने डायल – 100 पर कॉल कर पुलिस की मदद मांगी, लेकिन कोई नहीं पहुंचा। हंगामा बढ़ा तो लोग थाने पहुंच गए। इसके बाद असली एसडीएम मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मामले में 5 महिला और 6 पुरुष बाउंसरों समेत 15 लोगों को हिरासत में लिया है। ये बाउंसर लखनऊ यूपी से बुलाए गए थे। इनके कुछ साथी मौके से फरार हो गए। इस खेल के मास्टर माइंड भागवत गुप्ता को भी पुलिस ने पकड़ लिया है। दो जेसीबी जब्त कर ली गई हैं।

खुद को बता रहा था एसडीएम, लोगों ने पीटा
लोगों का कहना है कि जिस वक्त जमीन पर कब्जे का यह खेल चल रहा था। उस वक्त एक व्यक्ति हाथ में ढेर सारी फाइलें लेकर माैजूद था। उसने अपना परिचय एसडीएम विनोद शर्मा के रूप में दिया। वह लगातार धौंस जमा रहा था। हालांकि जब उसके फर्जी होने का खुलासा हुआ, तो फिर लोगों ने जमकर लात-घूंसे चलाए।फर्जी एसडीएम को जमीन पर गिराकर पीटा।फर्जी एसडीएम को जमीन पर गिराकर पीटा।

इंदौर में रहता है जमीन मालिक का परिवार

आरोप है कि भू-माफिया भागवत गुप्ता ने जमीन कोफर्जी तरीके से अपने नाम करवा ली थी। जमीन से भूमि स्वामी की इंदौर में रहने वाली बेटी प्रभा तिवारी का नाम भी गायब करवा दिया। राजस्व अमले ने सिर्फ तीन दिन में ही जमीन का नामांतरण भी कर दिया। उस जमीन पर पैलेस संचालित था, जिसकी शिकायत उसने खुद ही जनता की तरफ से करवाई।शिकायत में खुद को ही पैलेस संचालक बताया। वास्तविक पैलेस संचालक सतीश गुप्ता को भनक भी नहीं लगी। शिकायत पर जब कलेक्टर कोर्ट से नोटिस जारी हुआ, तो भागवत के बेटों के ही पास आया। लिहाजा, उन्होंने जवाब पेश नहीं कर पैलेस का संचालन बंद करने का आदेश पारित करा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.