जबलपुर के न्यू भेड़ाघाट में सेल्फी लेते समय दो महिलाओं की जान चली गई। हादसा शादी से पहले मंगेतर, सास और ससुर के साथ ओशो आश्रम व भेड़ाघाट घूमने आए परिवार के साथ शुक्रवार को हुआ। होने वाली बहू अपनी सास के साथ सेल्फी ले रही थी, तभी दोनों का संतुलन बिगड़ गया। वे नर्मदा के तेज बहाव में बह गईं। स्थानीय गोताखोरों ने पहले सास का शव निकाला। दूसरे दिन शनिवार को बहू की लाश पंचवटी में उतराती मिली। तिलवारा पुलिस ने दोनों शवों को पीएम के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

सीएसपी बरगी प्रियंका शुक्ला के मुताबिक घाटकोपर मुम्बई निवासी अरविंद सोनी (53) टेलरिंग का काम करते हैं। उनका बेटा राज सोनी इंडसइंड बैंक में मुम्बई में जॉब करता है। पत्नी हंसा सोनी (50) गृहिणी थीं। बेटे राज सोनी की चार महीने बाद मुम्बई में ही रहने वाली रिद्धि पिछड़िया (22) से शादी होने वाली थी। रिद्धि टीसीएस में जॉब करती थी।

मेडिकल कॉलेज में मौजूद परिजन।

मेडिकल कॉलेज में मौजूद परिजन।

ओशो का अनुयायी है पूरा परिवार

सोनी परिवार ओशो का अनुयायी है। वे ओशो आश्रम और भेड़ाघाट के बारे में काफी पढ़ चुके थे। शादी से पहले राज व रिद्धि भेड़ाघाट घूमने के लिए 7 जनवरी को जबलपुर पहुंचे थे। वे ओशो आश्रम के बाद वे भेड़ाघाट पहुुंचे थे। वहां शाम चार बजे सेल्फी लेते समय हंसा सोनी और रिद्धि न्यू भेड़ाघाट की चट्‌टान से नर्मदा में बह गए। स्थानीय गोताखोरों ने हंसा का शव थोड़ी देर में निकाल लिया था। रिद्धि तेज बहाव में बह गई थी।

तिलवारा पुलिस पंचवटी घाट पर पंचनामा की कार्रवाई करते हुए।

तिलवारा पुलिस पंचवटी घाट पर पंचनामा की कार्रवाई करते हुए।

पंचवटी घाट पर मिला शव

रिद्धि का शव शनिवार को पंचवटी घाट पर मिला। गोताखोरों की मदद से तिलवारा पुलिस ने शव को निकलवाया और पीएम के लिए भिजवाया। तिलवारा पुलिस के मुताबिक रिद्धि के पिता जैनेंद्र पिछड़िया सुबह ही मुम्बई की फ्लाइट से जबलपुर पहुंच गए थे। कुछ रिश्तेदार गुजरात से आ गए थे। दोनों का शव एक साथ परिवार सड़क मार्ग से लेकर मुम्बई रवाना हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.