दिल्ली लाल किले का सम्पूर्ण इतिहास

दिल्ली लाल किले का सम्पूर्ण इतिहास 


लाल किला 1857 तक तकरीबन 200 सालों तक मुगल साम्राज्य का निवास स्थान था। लाल किला दिल्ली में है। मुगल शासन काल में लाल किला मुख्य किले के रूप में था। ब्रिटिश शासन काल के लगभग सभी कार्यक्रम लाल किले में ही होते थे। लाल किले का निर्माण 1648 ने पांचवें मुगल साम्राज्य शासक शाहजहां अपने महल के रूप में करवाया था। किला लाल पत्थरों का बना होने के कारण उसका नाम लाल किला पड़ा। जो पानी के चैनल से जुड़ी हुई है और यह लहरें वसीयत कहा जाता है।


 यह किला मुगल शासक शाहजहां के शासनकाल की रचनात्मकता का प्रतिनिधित्व करता है। मुस्लिम परंपराओं और प्रतिमाओं के अनुसार ही इस किले का निर्माण किया गया था। लाल किले में हमें मुस्लिम महलों की प्रतिक्रिया दिखाई देती है। साथ ही लाल किले में हमें परसेंट परंपराओं की छवि भी दिखाई देती है। 

किले के बाहर एक मनमोहक गार्डन भी है, लेकिन लाल किले में बना गार्डन  दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, कश्मीर, ब्रिज और रोहिलखंड के गार्डन से थोड़ा अलग दिखाई देता है। सलीम गढ़ किले के साथ ही लाल किले को भी 2007 में यूनेस्को। वर्ल्ड हेरिटेज साइट में शामिल किया गया था। 

यहाँ भी पढ़े :- 

आइए दोस्तों जानते हैं लाल किले के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  1. दिल्ली लाल किले का सम्पूर्ण इतिहास लाल किला असल में सफेद है। जी हां, दोस्तों इसे कहते तो लाल किला है लेकिन असल में यह लाल रंग का नहीं बना है। आर्कलॉजिकल के भारतीय सर्वे के अनुसार किले के कुछ भाग लाइन पत्थरों से बने हुए हैं, लेकिन जब सफेद पत्थर खराब होने लगे थे तब उन्हें ब्रिटिश ने लाल रंग दिया था। 

2. कि ने की सीमांत दीवारों पर उसका नाम है। किले की ऊंची सीमांत दीवारें होना। मतलब किले को ज्यादा से ज्यादा सुरक्षित करना जब से लाल किले को लाल रंग दिया गया है। तभी से ब्रिटिश ने इसका नाम रेड फोर्ट रखा और स्थानीय लोगों ने इसका रूपांतर करके किले का नाम लाल किला रखा। 

3. लाल किले को कभी किला मुबारक भी कहा जाता था जैसा कि हम सभी जानते  हैं। दोस्तों की वास्तविक रूप में रेड फोर्ट को किला ए मुबारक कहा जाता था। इस किले को तब बनाया गया था जब शाहजहां ने अपनी राजधानी आगरा को दिल्ली स्थानांतरित करने का निर्णय किया था।

 4. दिल्ली लाल किले का सम्पूर्ण इतिहास लाल किले को बनाने में पूरे 10 साल लगे दोस्तों हम सभी जानते हैं कि उस समय में निर्माण कार्य करने के लिए पर्याप्त साधन और सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी, लेकिन उस समय के बेहतरीन आर्किटेक्ट उस्ताद हामिद और उस्ताद अहमद ने इसके निर्माण की शुरुआत 1638 ने की थी और इसका निर्माण कार्य 1648 में पूरा हुआ था। 

5. कोहिनूर हीरा इसके फर्नीचर का ही एक भाग है। जी हां, दोस्तों, कोहिनूर हीरा शाहजहां की ताज का ही एक भाग था जो ठोस सोने से बना हुआ था और इस पर बहुमूल्य धातुएं लगी हुई थी। उस ताज को पहनकर शाहजहां अपने दीवाने खास में बैठे थे ऐसा। कहा जाता है कि कोहिनूर हीरा विश्व का सबसे कीमती हीरा है।

 6. लाल किला के मुख्य प्रवेश द्वार को लाहौर गेट कहा जाता है। लाल किले के दो प्रवेश द्वार हैं। दिल्ली गेट और लाहौर गेट शाहजहां के लाहौर के प्रति आकर्षण के कारण उसे लाहौर गेट का नाम लिया गया क्योंकि लोगों का सबसे ज्यादा आकर्षण भारत-पाकिस्तान पर ही होता है। 

7. किले में एक पानी का निकास द्वार भी है। वैसे देखा जाए तो यह एक नदी का तट ही है और नदी का नाम जमुना नदी है। इतने सालों में नदी में काफी बदलाव हुआ है, लेकिन नदी का नाम नहीं बदला।

 8. आज लाल किला अष्टकोण आकार में बना हुआ है। दोस्तों बर्ड आई व्यू को ध्यान में रखते हुए रेडफोर्ट को भी अष्टकोण आकार में बनाया गया

9. समुचित रूप से इसे रंग महल भी कहा जा सकता है। रंग महल जिसका अर्थ है रंगों का महल। असल में दोस्तों यह शासक की पत्नी और दासियों का निवासस्थान था। सम्राट काफी लकी था क्योंकि वह खास महल के दायरे में ही रहता था ताकि वह आसानी से अपनी रानियों के साथ रात्रि भोज कर सके। 

10. बहादुर शाह को उन्हीं के लाल किले में ब्रिटिश ने बंदी बनाया था। दोस्तों ब्रिटिश ने परास्त होने के बाद बहादुर शाह को उन्हीं के महल में कैदी बना लिया था और दोषी पाए जाने के बाद उन्हें दीवानेखास से निकालकर रंगून भेज दिया गया था। 

11. पहले स्वतंत्रता दिवस से हर साल 15 अगस्त को प्रधानमंत्री लाल किले पर ध्वज लहरा कर भाषण देते हैं और यह परंपरा तभी से चलती आ रही है। 

12. ब्रिटिशर्स ने किले को अवस्त्र कर दिया था। ऐसा कहा जाता है कि मुगल शासन के खत्म होते ही ब्रिटिशर्स ने लाल किले को काफी क्षति पहुंचाई और किले पर ब्रिटिशर्स का अधिकार हो गया था। ब्रिटिश ने किले में स्थापित बहुमूल्य रत्नों और धातुओं की लूट की। फर्नीचर को भी ध्वस्त कर दिया। इसलिए कहा जाता है कि बहुमूल्य लाल किले को ब्रिटिशर्स अवस्त्र कर दिया था। 

13. लाल किला आज एक वर्ल्ड हेरिटेज साइट है। जी हां, दोस्तों 2007 में यूनेस्को ने लाल किले के महत्व और इतिहास को देखते हुए उसे वर्ल्ड हेरिटेज साइट घोषित किया। यह भारत के लिए काफी गर्व की बात है ।

यहाँ भी पढ़े :- 



Leave a Reply

Your email address will not be published.