रीवा: लोकायुक्त पुलिस ने पटवारी संजय दुबे पुत्र मुद्रिका प्रसाद दुबे, 30 वर्षीय पटवारी हलका उमरिया व्यावहारन टोला तहसील नयागढ़ी को 500 की रिश्वत लेते हुए तहसील नयागढ़ी परिसर में फंसाया है. पटवारी ने जमीन हस्तानान्तरण के एवज में रिश्वत की मांग की थी.

Budget 2022 में सस्ते हुए Mobile phone: सस्ते होंगे मोबाइल फोन और कैमरे, जानें क्या है सरकार का प्लान

बताया गया है कि शिकायतकर्ता यशोदानंद पटेल पुत्र शुभ लायक पटेल 42 वर्षीय इथाकला तहसील निवासी नईगढ़ी खेती में काम करता है. पिछले महीने आवेदक ने अपनी पुश्तैनी जमीन बदलने के लिए पटवारी के पास आवेदन किया था। लेकिन जमीन पटवारी द्वारा हस्तांतरित नहीं की गई थी। आवेदक ने पटवारी से जमीन हस्तानान्तरण के बारे में पूछा तो पटवारी ने रुपये की मांग की।

साउथ के Brahmanandam का रिकॉर्ड तोड़ना है, मुश्किल लाखों में है फीस

शिकायत की गई:

बताया गया है कि पटवारी द्वारा जमीन हस्तांतरित नहीं करने पर शिकायतकर्ता द्वारा इस संबंध में लोकायुक्त पुलिस में शिकायत की गई थी. शिकायत की पुष्टि के बाद एसपी गोपाल सिंह धाकड़ के निर्देश पर पुलिस उपाधीक्षक प्रवीण सिंह और इंस्पेक्टर जियाउल हक की 12 सदस्यीय टीम का गठन किया गया.

TMKOC की दयाबेन हैं करोड़ों की मालकिन संपत्ति जानकर दंग रह जाएंगे आप

साधारण कपड़ो में थी पुलिस:

बताया गया है कि शिकायतकर्ता द्वारा नईगढ़ी तहसील परिसर में जैसे ही पटवारी को 500 रुपये की रिश्वत दी गयी पुलिस ने आरोपी पटवारी को रंगेहाथ पकड़ लिया. शिकायतकर्ता के अनुसार पटवारी द्वारा धर्म परिवर्तन के एवज में अधिक राशि की मांग की जा रही थी। लेकिन काफी मिन्नत करने के बाद वह पांच सौ रुपये के लिए राजी हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.