Rewa News: छोटे भाई को कुल्हाड़ी से हमला कर फरार, हालत गंभीर जख्मी युवक को परिजन तुरंत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंचे

रीवा जिले के जवा थाना अंतर्गत भनिगवां गांव के सरकारी टोला में सगा भाई ही जान का दुश्मन बन बैठा है। पुलिस के मुताबिक आधी रात गहरी नींद में सोते समय बड़े भाई ने छोटे भाई पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। चीखने चि​ल्लाने की आवाज सुनकर परिजन दौड़े। तब तक आरोपी भाई कुल्हाड़ी छोड़कर मौके से फरार हो गया है।

छेड़छाड़: टेंपो में सवार छात्रा से मनचलों ने छेड़छाड़ की डरी छात्रा टेंपो से कूद गई

वारदात के बाद जख्मी युवक को परिजन तुरंत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंचे। लेकिन युवक की हालत को गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने संजय गांधी अस्पताल रेफर कर दिया। यहां चिकित्सकों ने सर्जरी विभाग के आईसीयू वार्ड में भर्ती कर उपचार दिया जा रहा है। लेकिन हालत नाजुक है। इधर सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने फरार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए जंगल में सर्चिंग शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार कहानी


मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात्रि राजकरण कोल पुत्र रामनरेश कोल निवासी भनिगवां (35) को बड़े भाई ने सिर पर कुल्हाड़ी मारकर अधमरा कर दिया। सूत्रों का दावा है कि पुलिस प्रथम दृष्ट्या अवैध संबंध से जुड़ा केस मानकर चल रही है।

प्रेमी के साथ मिलकर बेरहमी से पिटवा दिया अपने ही भाई को, पीड़ित अस्पताल में भर्ती

चर्चा है कि घायल छोटा भाई गुजरात में नौकरी करता था। बीते माह वह अपने बड़े भाई की पत्नी को लेकर गुजरात गया था। यहां रहने के बाद कुछ दिन पूर्व ही सभी लोग गुजरात से लौट कर अपने गांव आए थे। घर आने के बाद दोनों भाइयों का आपस में विवाद हुआ था। संभवत: इसी विवाद के चलते आरोपी ने अपने छोटे भाई के सिर पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया।

परिजन बोले- शराब के लिए पैसे न देने पर किया हमला


परिजनों का कहना है कि घटना का कारण दोनों भाइयों के बीच पैसे के लेन-देन का विवाद है। वारदात वाले दिन बड़े भाई ने शराब के लिए पैसे मांगे थे। लेकिन छोटे भाई ने मना कर दिया था। इसी बात को लेकर वह भड़का हुआ था। ऐसे में रात में सोते समय मौका पाकर हमला कर दिया है। फिलहाल जवा पुलिस द्वारा घटना के दोनों पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच कर रही है।

रीवा में बड़ा हादसा: ट्रैक्टर में लगी चक्की से महिला की पट्टे में साड़ी फंसने से गला कटा, दर्दनाक मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *