लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर मंगलवार को एक बड़ा हादसा टल गया। विस्तारा एयरलाइंस का विमान लखनऊ एयरपोर्ट पर उतरने वाला था कि इसी दौरान अचानक एक पक्षी विमान के इंजन से टकरा गया। पायलट ने सूझबूझ के साथ विमान को रनवे पर उतार लिया। जिसके बाद विमान में बैठे सभी 148 यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। विमान से बाहर आने के बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली है। इंजीनियरों ने देर रात इंजन में आई खराबी को ठीक किया।

दरवाजे से ही लौटी बारात: रीवा में 35 साल का दुल्हा 14 साल की ​लड़की से कर रहा था शादी, बाल विवाह के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई

दिल्ली से लखनऊ के लिए भरी थी उड़ान

एयरपोर्ट सूत्रों के मुताबिक विस्तारा एयरलाइन का विमान यूके-641 दिल्ली से लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा आ रहा था। लखनऊ पहुंचने से पहले जब विमान 2600 फीट की ऊंचाई पर था, तब ही अचानक पायलट को पंखे से पक्षी के टकराने का एहसास हुआ। इसके ठीक बाद काकपिट में दुर्गंध आने लगी। पायलट ने इसकी सूचना लखनऊ के एयर ट्राफिक कंट्रोल को दी। एटीसी की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस के साथ सीआइएसएफ जवान रनवे के पास पहुंच गए।

Rewa News: एक और एक्शन लेते हुए लोकायुक्त ने फिर दबिश दी: रीवा में 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी रंगे हाथ गिरफ्तार

फ्लाइट में सवार सभी 148 यात्री दहशत में आ गए। वहीं कई महिलाएं रोने लगी। इसी बीच पायलट ने सूझबूझ दिखाते हुए विमान को सुरक्षित स्थान पर उतार लिया। मौके पर इंजीनियरों की टीम पहुंची। उन्होंने रिपेयरिंग का काम शुरू किया किया। पक्षी के टकराने के कारण पंखा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया था। इंजन में भी थोड़ी दिक्कत आ गई थी। जिसे रात में ठीक कर लिया गया।

Fight scene: मेंढक और साँप की यैसी लड़ाई नहीं देखे होंगे, एक बार जरूर देखे ये वीडियो

दिल्ली जाने वाले यात्रियों ने किया हंगामा

विस्तारा की इसी विमान (फ्लाइट यूके-642 लखनऊ) से 3:35 बजे दिल्ली रवाना होने वाले यात्री भी एयरपोर्ट पर पहुंच गए। उन्हें जैसे ही विमान के क्षतिग्रस्त होने का पता चला। उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। यात्रियों ने एयरलाइन से दूसरे विमान या अन्य फ्लाइट से दिल्ली भेजने की व्यवस्था की मांग की। हालांकि इस बीच विमान के ठीक होने और सुरक्षित होने का भरोसा दिलाकर दिल्ली रवाना किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.