भोपाल के गोविंदपुरा के कस्तूरबा नगर में 80 फीट ऊंची टंकी पर चढ़ा परिवार 24 घंटे बाद रविवार को उतर लिया गया। पिता की जिद की वजह से कड़कड़ाती ठंड में उसके तीनों बच्चे और पत्नी ठंक में टंकी पर रातभर रहे। नीचे उतरने से पहले युवक की पत्नी ने बच्चों के लिए पहले खाना मांगा। गोविंदपुरा थाना TI अशोक सिंह परिहार उसे खाना देने टंकी पर चढ़े। इसके करीब 15 मिनट बाद परिवार टंकी से नीचे उतरा।

सीधी में सड़क हादसा: चाचा-भतीजा दोनों थे नशे में धुत एक ही बाइक में सवार थे दोनों पहाड़ से टकरा कर गिरे, चाचा की हालात गंभीर

एडीसीपी राजेश सिंह भदौरिया ने परिवार को आश्वसन दिया कि जायज मांग पूरी की जाएंगी। उसके बेटी के साथ मारपीट करने वाले आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद ही परिवार टंकी से उतरने को सहमत हुआ। टंकी से उतरने के बाद मौके पर मौजूद रायसेन पुलिस उसे एफआईआर दर्ज करने के लिए कार में बैठाया। पुलिस उसे रायसेन लेकर जाएगी। इस दौरान मौके पर लोगों का मजमा लगा रहा।

भोजपुर, रायसेन निवासी रीतेश गोवस्वामी (40) पत्नी सीमा और तीन बच्चों के साथ शुक्रवार दोपहर करीब चार बजे कस्तूरबा नगर की पानी की टंकी पर चढ़ गया था। सूचना के बाद गोविंदपुरा पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने परिवार को उतरने के लिए आग्रह किया, लेकिन वे नहीं उतरे। पूरी रात वह पुलिस, प्रशासन के अधिकारियों से टंकी से ही बहस करता रहा। सुबह वह सीएम को मौके पर बुलाने पर अड़ गया। जब पुलिस ने बताया कि सीएम सीहोर गए हैं, वह नहीं आ पाएंगे।

साले से भी पुलिस ने कराई बात


इस पर मंत्री विश्वास सारंग से मिलवाने की जिद करने लगा। दोपहर करीब तीन बजे एडीसीपी राजेश सिंह भदौरिया ने उसके साले को फोन पर कॉन्फ्रकेंस में लेकर बात कराई। तब कहीं जाकर वह पुलिस की बात मानने को तैयार हुआ। एडीसीपी ने उसकी जायज मांगे पूरी करने का आश्वसन दिया। तब कहीं जाकर वह टंकी से उतरने को तैयार हुआ। इस बीच वह टंकी में चढ़कर चिल्लाते रहा कि रायसेन पुलिस, राजस्व अधिकारी उसकी सुनवाई नहीं कर रहे हैं। उसके इलाके का दबंग व्यक्ति धनंजय सिंह उसकी जमीन पर कब्जा कर रखा है।

जमीन पर कब्जा, हमले का आरोप


टंकी से नीचे उतरने के बाद रीतेश ने कहा, भोजपुर में उसकी करीब दो एकड़ जमीन पर धनंजय सिंह चौहान नाम के व्यक्ति ने कब्जा कर लिया है। उसने रायसेन के अधिकारियों को अवगत कराया, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। उल्टे उसपर झूठे केस दर्ज कर दिए गए। पुलिस अधिकारी गाली-गलौज करते हैं।

हाल ही में वह खेत पर पहुंचा तो धनंजय के लोगों ने उसके साथ मारपीट कर नदी में फेंक दिया। साथ ही उसकी बेटी के साथ भी मारपीट की गई। इतना ही नहीं बेटी के साथ गलत काम का प्रयास किया गया। इधर, रायसेन प्रशासन का कहना, रीतेश के पिता ने बड़े बेटे के नाम पर वसीयत लिख दी थी। रीतेश के बड़े भाई ने धनंजय चौहान को जमीन बेची है। रीतेश के नाम से वर्तमान में छह एकड़ जमीन है, जबकि उसके बड़े भाई के हिस्से में साढ़े दस एकड़ है। फिर भी प्रशासन नए सिरे से जांच करने को तैयार है।

पहले भी कई बार टंकी पर चढ़ चुका युवक


पुलिस का कहना है, रीतेश इससे पहले पांच बार पानी की टंकियों में इसी तरह चढ़कर प्रशासन को परेशान कर चुका है। इसके तीन माह पहले वह मिसरोद में डी-मार्ट के पास पानी की टंकी में चढ़ा था। इससे पहले वह मुख्यमंत्री निवास पर केरोसिन लेकर आत्महत्या करने के लिए पहुंच गया था। 12 अगस्त 2021 को कांग्रेस मुख्यालय के सामने बच्चों के साथ धरने पर बैठा था।

रीवा का जिम संचालक कार खरीदने आया था जबलपुर, शो-रूम के सामने से हुआ गायब, तलाश जारी

मौके पर जुटी भीड़


परिवार के पानी की टंकी पर चढ़ने की खबर लगते ही मौके पर काफी भीड़ इकट्‌ठा हो गई। टंकी के करीब पहुंचने पर युवक नीचे कूदने की धमकी देता रहा। परिवार को 24 घंटे तक मजमा लगा रहा। इलाके के लोग उसे देखने पहुंचते रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.