सर्राफा व्यापारी की दुकान में हुई 40 लाख रुपए के गहनों की चोरी का हुआ खुलासा: 4 दोस्तों ने की थी प्लानिंग, तीन दिन में पुलिस ने किया खुलासा

0
9

राजगढ़ जिले के खिलचीपुर में एक सराफा व्यापारी की दुकान से 40 लाख रुपये के आभूषण बरामद हुए हैं. धनतेरस यानि शनिवार की सुबह गडगंगा नदी के पास स्थित पानी की टंकी व कूड़े के ढेर से 40 लाख के चोरी के जेवर बरामद करते हुए चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है. चोरी 18-19 अक्टूबर की दरमियानी रात की है।

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

शनिवार शाम खिलचीपुर थाने में घटना का खुलासा करते हुए एसपी अवधेश कुमार गोस्वामी ने कहा- चोरी के चारों आरोपी दोस्त हैं. जिसमें राकेश मोगिया, लखन मोगिया और करण मोगिया चचेरे भाई हैं। चौथा आरोपी हरिओम सेन सैलून चलाता है। चारों ने हरिओम की दुकान में बैठकर चोरी की योजना बनाई थी। योजना के तहत आरोपी ने पहले एक वेल्डिंग मशीन चुराई, फिर मेड़वाल धर्मशाला की दूसरी मंजिल से टेंट हाउस की सामग्री से दो पर्दे चुराए। उनमें गांठें डालकर पर्दे के सहारे झंवर के घर में उतरे। यहां से सर्राफा बाजार स्थित बृजमोहन सराफ की दुकान ने वेल्डिंग कर गेट काटने की कोशिश की। लेकिन जब वेल्डिंग की आवाज आई तो मशीन मेन गेट से टूट कर दीवार में घुस गई। आरोपी दुकान के छह ताले तोड़कर तीन मंजिल से नीचे उतरा और तिजोरी व दुकान में रखे 40 किलो चांदी व 15 तोला सोने के जेवर व बर्तन दो बोरे व एक बैग में भरकर फरार हो गया. आरोपियों ने तिजोरी तोड़कर खाली कर दी।

टैंकों और कूड़ेदानों में छिपा सामान

चोरी को अंजाम देने के बाद चारों आरोपी फिर बगीचे में पहुंचे, जहां उन्होंने जेवरों का थैला पानी की टंकी में और गहनों से भरी बोरी को नदी के पास एक गंदे नाले के पास कूड़े के ढेर में छिपा दिया. घटना के तीन दिन बाद तक आभूषण वहीं पड़ा रहा। इसके बाद आरोपी मौके की तलाश कर रहे थे, लेकिन पुलिस की सख्ती और सक्रियता के चलते मौका नहीं मिला। इसी बीच शुक्रवार की रात करीब 1 बजे आरोपी राकेश मोगिया चोरी का माल निकालने के प्रयास में कार लेकर बाहर निकला. इसी बीच नगर रक्षा समिति के शिवम सोनी, रिजवान अली और पुलिसकर्मी बहादुर मीणा ने गश्त के दौरान उसे पकड़ लिया और पूछताछ की.

जेब में मिले चांदी के टुकड़े से हुआ खुलासा

शक के आधार पर राकेश मोगिया को खिलचीपुर थाने लाया गया और तलाशी लेने पर उसकी जेब से चांदी की चेन के टुकड़े मिले। इसके बाद जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपी टूट गया और पूरी घटना का पता चला। इसके बाद कुछ ही घंटों में पुलिस ने एक के बाद एक चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर माल बरामद कर लिया. 15 तोले सोने के गहनों की कीमत 10 लाख रुपये है। जबकि 40 किलो चांदी के गहनों की कीमत करीब 30 लाख रुपये है।

पुलिस उस जगह पहुंची जहां आरोपी छिपे थे, जहां उन्होंने पानी की टंकी से सोने-चांदी के जेवरों का एक बैग और नाले के पास कूड़े के ढेर से दो बोरी चांदी के बर्तन व जेवर जब्त किए. इस खुलासे में एसपी खिलचीपुर के निर्देश पर एसडीओपी आनंद राय, मचलपुर, जीरापुर, खिलचीपुर, भोजपुर और कालीपीठ पुलिस ने रात भर जांच की. सुबह तक सफलता।

व्यापारियों ने किया पुलिस का सम्मान

चोरी का मामला सामने आने के बाद शहर के व्यापारियों ने पुलिस कर्मियों को शॉल व क्विंस देकर सम्मानित किया. वहीं, एसपी अवधेश कुमार ने नगर रक्षा समिति के शुभम सोनी और रिजवान खान को पांच-पांच हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here