पन्ना में एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है। यहां कुछ बदमाशों ने युवती की आंखों में एसिड डाल दिया। उसकी हालत गंभीर है। दिखाई भी नहीं दे रहा है। युवती को गंभीर हालत में रीवा मेडिकल अस्पताल रेफर किया गया है। फिलहाल आरोपियों का पता नहीं चल सका है। मौके पर कलेक्टर, एसपी समेत अन्य अधिकारी पहुंच गए हैं। युवती का भाई लापता है। बताया जा रहा है कि आरोपियों को शक था कि उनके यहां से महिला को भगाने में उसने मदद की है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी ठाकुर समुदाय से हैं और दबंग हैं। वहीं, पीड़ित रैकवार समाज से हैं।

अस्पताल में भर्ती गुड़िया ढीमर (20) के मुताबिक, वह अपने भाई 18 साल के कपिल ढीमर के साथ मंगलवार सुबह करीब 8 बजे अपने घर पर थी। इसी दौरान पड़ोसी सुम्मी राजा और गोल्डी राजा आए। आरोपी ये कहकर हम दोनों को घर से ले गए कि उन्हें कुछ पूछताछ करनी है। इसके बाद आरोपी हम दोनों को अपने खेत पर ले गए। यहां मेरे साथ छेड़खानी की। विरोध करने पर भाई और मेरे साथ मारपीट भी की।

पीड़िता ने बताया कि इसी दौरान सुम्मी ने मुझे पकड़कर जबरदस्ती मेरी आंखों में एसिड डाल दिया। इसके बाद गोल्डी ने मेरी दोनों आंखों को मसल दिया। मैं दर्द से तड़पती रही। आरोपी मेरे भाई को अपने साथ ले गए। मैं शोर मचाते हुए मदद के लिए खेत में ही इधर-उधर भागती रही। इसी दौरान शोर सुनकर गांव के कुछ लोग मेरे पास आए और घटना के संबंध में पुलिस को सूचना दी। उधर, घटना की सूचना के बाद कलेक्टर संजय मिश्रा और एसपी धर्मराज मीणा अस्पताल पहुंचे और मामले की जानकारी ली। अफसरों ने आरोपियों को जल्द पकड़ने का आश्वासन दिया है।

चाचा-चाची ने की है परवरिश:
गुड़िया का कहना है कि जब वह छोटी थी, तभी उसके माता-पिता की मौत हो गई थी। इसके बाद चाचा-चाची ने हम दोनों भाई-बहन का पालन-पोषण किया। गुड़िया ने पुलिस को बताया कि दोनों आरोपियों के घर से कोई महिला बिना बताए कहीं चली गई है। आरोपियों को शक था कि उसे भगाने में मेरा हाथ है, इसलिए उन्होंने वारदात को अंजाम दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.