CG News: ससुर ने जब आत्महत्या के लिए छलांग लगाई तो दामाद भी कूदा, दोनों नहर की तेज धारा में बह गए, एक को बचाया, दूसरे का पता नहीं चला

कोरबा जिले में ससुर को आत्महत्या से बचाने के लिए दामाद ने भी नहर में छलांग लगा दी। हालांकि आसपास के लोगों ने किसी तरह दामाद को बाहर निकाला, लेकिन नहर की तेज धारा में बह गए ससुर का अभी तक पता नहीं चल पाया है.

उसका दामाद धर्मदास (35) कोतवाली थाना क्षेत्र के सीतामढ़ी में रहने वाले होरीदास के घर पोखरी पारा से आया था. रिश्ते में दोनों ससुर और दामाद थे, लेकिन दोनों के बीच काफी बॉन्डिंग थी। दोनों एक साथ बैठकर शराब पीते थे। शुक्रवार की सुबह से होरीदास अपने दामाद के साथ बैठकर शराब पी रहा था। सुबह से शाम हो रही थी, लेकिन दोनों शराब के साथ बैठे रहे। इसके बाद धर्मदास की सास वहां आ गईं और शराब को लेकर उनका पति होरीदास से कुछ विवाद हो गया।

इधर, शाम होते ही होरिदास अचानक अपने दामाद से कहने लगे कि अब उनका जीने का मन नहीं है। इसके बाद वह घर से निकल कर नहर के पास चला गया। आखिर किसी अनहोनी के डर से दामाद भी चला गया। वहीं जब तक दामाद धर्मदास कुछ समझ पाते तब तक उनके ससुर होरीदास उफनती हंसदेव नदी पर नहर में कूद पड़े. वह लोगों से मदद के लिए चिल्लाता रहा। कुछ ग्रामीणों ने नहर में कूदकर दामाद धर्मदास की जान बचाई, लेकिन उनके ससुर तेज धारा की चपेट में आ गए। हादसे के 24 घंटे बाद भी उसका पता नहीं चल सका है।

घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई। कोतवाली थाना प्रभारी रूपक शर्मा ने बताया कि गोताखोरों को नहर में उतारा गया है और होरीदास की तलाश जारी है. साथ ही परिवार से भी पूछताछ की जा रही है कि उसने आत्महत्या की कोशिश क्यों की।

पुलिस ने दामाद का बयान भी दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी रूपक शर्मा ने बताया कि होरीदास की बेटी और दामाद पोखरी पारा में रहते हैं. वहां से दामाद अपने ससुराल आ गया था। लगातार बारिश से हसदेव नदी का जलस्तर बढ़ गया है। जिससे शाखा नहर में भी पानी छोड़ा गया है। फिलहाल नहर भर चुकी है और काफी तेज धारा है, जिससे बचाव कार्य में देरी हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *